इमली की चटनी

This post is also available in: English

इमली की चटनी को इमली में गुड़ और मसलो के साथ पका कर बनाया जाता है।

इमली की चटनी एक मीठी, तीखी और मसालेदार चटनी है। इस स्वादिष्ट चटनी को भारतीय चाट और स्नैक्स के साथ दिया जाता है।

इमली की चटनी बनाने में आसान है लेकिन लोग इसे घर पर नहीं बनाते हैं।

इस पोस्ट में आप जानेंगे कि इमली की चटनी कैसे बनाई जाती है, जिसका स्वाद बिल्कुल बाजार जैसा होगा।

इमली की चटनी

इस इमली चटनी थोड़ी गाढ़ी होती है। आप इसकी इसे थोड़ा पतला भी कर सकते हैं।

एक बार तैयार होने के बाद फ्रिज में कुछ दिनों में ये अपने आप गाढ़ी हो जाती है।

इस इमली की चटनी का उपयोग आलू टिक्की, राज कचौरी, गोल गप्पे (पानी पुरी), दही भल्ला (दही वड़ा) में डाली जाती है। और ये समोसा, ब्रेड पकोड़ा, पनीर ब्रेड पकोड़ा, कचौरी, पकोड़े जैसे आलू पकोड़ा, प्याज पकोड़ा, पनीर पकोड़ा, गोभी पकोड़ा, पालक पकोड़ा आदि के साथ भी इसको दिया जाता है।

इमली की चटनी के लिए सामग्री

  • इमली: इस चटनी की मुख्य सामग्री इमली है। मैंने जो इमली ली है इसमें बीज है। आप बिना बीज वाली इमली भी ले सकते हैं। इससे इसके स्वाद में कोई अंतर नहीं आएगा।
  • गुड़ और चीनी: चटनी को मीठा करने के लिए हमें गुड़ और चीनी मिलानी होगी। इसे अच्छा स्वाद देने के लिए गुड़ दो गुना ले चीनी का। इस रेसिपी में आप चीनी न भी डाले तो भी ये बन जाएगी। ऐसे में आपको इसमें गुड़ ज्यादा डालना पड़ेगा।
  • मसाले: इस चटनी को बनाने के लिए हमें इन थोड़े से मसालों की जरूरत है जैसे जीरा, हींग, नमक, काला नमक, कश्मीरी लाल मिर्च, सौफ पाउडर, सौंठ पाउडर, सौफ।

वैकल्पिक सामग्री: मैंने इस चटनी को बहुत ही आसान तरीके से बनाई है। इसे कुछ महीनों के लिए फ्रिज में रख सकते है। लेकिन आप इसमें ये बाकि चीज़े भी डाल सकते हैं।

  • केला और अंगूर: और ज्यादा स्वाद के लिए इस इमली चटनी में केले को काटी कर और हरे अंगूर बनने के बाद इसमें डाले।
  • खजूर: चटनीबनाते समय खजूर भी डाल सकते है। आपको उन्हें उबलते पानी में 1 घंटे के लिए भिगोने है और फिर उन्हें काट लें।
  • खरबूजे के बीज: इमली चटनी में खरबूजे के बीज डाल सकते हैं।

अगर आप चटनी में इन वैकल्पिक सामग्रियों को मिलाते हैं तो 10-15 दिनों में इसे जरूर खा ले। नहीं तो ये ख़राब भी हो सकता है।

हम इसे कब तक फ्रिज में रख सकते हैं?

इसे आप किसी एयरटाइट डिब्बे में भर कर फ्रिज में रख सकते हैं।

यह फ्रिज में 2-3 महीने तक रख सकते है। लेकिन मेरा सुझाव है कि इसे अधिक मात्रा में न बनाए। इसे इतना ही बनाए जो 7-10 दिनों तक चल सके। एक बार जब आप इसे खत्म कर ले तो इसे फिर से बना ले।

इमली की चटनी वीडियो

इमली की चटनी रेसिपी

इमली की यह चटनी एक मीठी, तीखी और मसालेदार चटनी है। इस स्वादिष्ट चटनी को भारतीय चाट और स्नैक्स के साथ परोसा जाता है।
Course Indian Street Food
Cuisine Indian
Keyword इमली की चटनी
Prep Time 1 hour
Cook Time 30 minutes
Total Time 1 hour 30 minutes
Servings 2 कप

Ingredients

  • 50 ग्राम इमली
  • ½ लीटर पानी
  • 2 बड़े चम्मच तेल
  • ½ छोटा चम्मच जीरा
  • ¼ छोटा चम्मच हींग
  • ½ छोटा चम्मच नमक
  • ½ छोटा चम्मच काला नमक
  • ½ छोटा चम्मच कश्मीरी लाल मिर्च
  • ½ छोटा चम्मच सौफ पाउडर
  • ¼ छोटा चम्मच सौंठ पाउडर
  • ½ छोटा चम्मच सौफ
  • 50 ग्राम गुड़
  • 25 ग्राम चीनी

Instructions

  • इमली को ½ लीटर उबले पानी में 1 घंटे के लिए भिगो दें।
  • एक बार जब यह फूल जाए, तो हाथों से बीज हटा दें।
  • इसे ब्लेंडर में ब्लेंड करें और फिर इसे एक छलनी में छान लें।
  • कढ़ाई में 2 बड़ी चम्मच तेल गरम कर लीजिये।
  • अब इसमें ½ छोटा चम्मच जीरा डालें।
  • इसमें ¼ छोटी चम्मच हींग डालें।
  • और अच्छी तरह मिला लें।
  • अब इसमें सारा इमली का गूदा डाल दें। और अच्छी तरह मिला लें।
  • इसे अगले 5-7 मिनट के लिए मध्यम-तेज आंच पर पकाएं।
  • इसमें ½ छोटी चम्मच नमक डालें।
  • ½ छोटा चम्मच काला नमक, ½ छोटा चम्मच कश्मीरी लाल मिर्च डालें।
  • इसमें ½ छोटी चम्मच सौफ पाउडर डाल दीजिए।
  • अब इसमें छोटी चम्मच सौंठ पाउडर डालिये।
  • इसमें ½ छोटी चम्मच सौफ डाल दीजिए।
  • और अच्छी तरह मिला लें।
  • इसे अगले 5-7 मिनट तक पकाए।
  • अब इसमें 50 ग्राम गुड़ डालें। और अच्छी तरह मिला लें। गुड़ को पिघलने दे।
  • इसमें 25 ग्राम चीनी मिलाए।
  • इसे अच्छे से मिलाएं।
  • इसे और 2-3 मिनट तक पकाएं।
  • अब आपकी इमली की चटनी तैयार है।

Notes

टिप्स:

आप इस चटनी में सूखे खजूर मिला सकते हैं। इन्हें 1 घंटे के लिए उबले हुए पानी में भिगो दें। इसके बीज निकाल कर काट लें। कढ़ाई में इमली का गूदा डालने के बाद, इन्हे भी इसी समय डाल दीजिये।

Similar Posts

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Recipe Rating




This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.